Posts Tagged ‘Anmol

13
Aug
10

अनकही भावनाए

जब देखा मैंने उसे पहली बार,
हो गया था मुझे उससे प्यार !

करती थी वो आँखों से बार-बार प्रहार,
नज़र मिलते ही हो जाती थी मेरी हालत ख़राब !

उससे बात करने को तरसता था दिल,
कहीं खो न दू डरता था दिल !

वो जब-जब दिख जाती,
ज़िन्दगी रौशनी से भर जाती !

वह प्यारी सी सूरत, वह लाजवाब चेहरा,
छुप छुप देखता था मैं उसे ठहरा-ठहरा !

कई बार हुई उससे अकेले मुलाकात,
पर कह नहीं पाया दिल की बात !

शायद कुछ था उसके भी मन में,
जो नहीं कह पाती थी वो शब्दों में !

जिस दिन ना होती उससे मुलाकात,
लगता था कैसे गुजरेगा यह दिन और रात !

पता थी उसे भी मेरे दिल की बात,
शायद इसीलिए खाती थी इतने भाव !

अभी भी बाकी है तीन और साल(कॉलेज में),
पर ना जाने कब खत्म होगा यह इंतज़ार !

जब होगा यह इंतज़ार खत्म,
तब रहेगी ज़िन्दगी में रोशनी हरदम !

अनमोल राजपुरोहित

Advertisements



Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 6 other followers